आरती श्री गणेश जी की

आरती श्री गणेश जी की
By: No Source Posted On: July 09, 2020 View: 93

आरती श्री गणेश जी की

आरती श्री गणेश जी की

जय गणेश, जय गणेश जय गणेश देवा-2

माता जाकी पार्वती, पिता महादेव || जय गणेश, जय गणेश, जय गणेश देवा

एक दन्त दयावंत, चार भुजा धारी |

माथे सिंदूर सोहे, मुसे की सवारी ||

जय गणेश, जय गणेश, जय गणेश देवा

अंधन को आंख देत, कोढ़िन को काया|

बाँझन को पुत्र देत, निर्धन को काया ||

जय गणेश, जय गणेश, जय गणेश देवा | माता जाकी पार्वती, पिता महादेव||

हार चढ़े, फूल चढ़े और चढ़े मेवा |

लड्डूओं का भोग लगे, संत करे सेवा ||

जय गणेश, जय गणेश, जयगणेश देवा | माता जाकी पार्वती पिता महा देवा |

दिनन की लाज राखो, शम्भू सुतवारी|

कामना को पूरी करो, जगबलिहारी ||

जय गणेश, जय गणेश, जय गणेश देवा | माता जाकी पार्वती पिता महादेवा ||

Tags:
#आरती श्री गणेश जी की   # एक दन्त दयावंत  # चार भुजा धारी  # अंधन को आंख देत  # कोढ़िन को काया  # हार चढ़े  # फूल चढ़े और चढ़े मेवा  

  Contact Us
 Poem Poetry for Kids

Uttar Pradesh (India}


Mail : tyaginiraj87@gmail.com
Business Hours : 9:30 - 5:30

  Follow Us
Site Map
Get Site Map
UA-151118390-1